26 May 2011

Edit

RAJAT JOSHI sagawara










लोभ Greed

कदाचित सोने और चांदी के कैलाश के समान असंख्य पर्वत हो जायें तो भी लोभी पुरूष को तृप्ति नहीं होती क्योंकि इच्छा आकाश के समान अनंत है। -समन सुर्त 





बल Strength

विद्वान् का बल विद्या और बुद्धि है। राष्ट्र का बल सेना और एकता है। व्यापारी का बल धन और चतुराई है। सेवक का बल सेवा और कर्तव्यपरायणता है। शासन का बल दंड-विधान और राजस्व है। सुन्दरता का बल युवावस्था है। नारी का बल शील है। पुरूष का बल पुरुषार्थ है। वीरों का बल साहस है, निर्बल का बल शासन व्यवस्था है। बच्चों का बल रोना है। दुष्टों का बल हिंसा है। मूर्खों का बल चुप रहना है और भक्त का बल प्रभु की कृपा है। 





विपत्ति Adversity

विपत्ति में भी जिसका विवेक नष्ट नहीं होता, वह व्यक्ति निश्चय ही नष्ट होने से बच जाता है, नष्ट नहीं होता। 







आत्मा Soul

आत्मा को मत भूलो
हमारे संस्कार बचपन से ही ऐसे बन जाते हैं कि हमारा ध्यान भीतर की तरफ़ नहीं जाता, बाहर की तरफ़ जाता है। आत्मा की हमें कोई ख़बर नहीं।
आत्मा के लिए शरीर एक कलेवर मात्र है, जब चाहा ओढा, जब चाहा उतारकर रख दिया। -








मित्र Friend

परदेश में विद्या मित्र है। विपत्ति में धैर्य मित्र है। घर में पत्नी मित्र है। रोगी का मित्र वैद्य है।
मरते हुए प्राणी का मित्र धर्म है। आचरण करने पर ज्ञान मित्र है। शत्रु सामने हो तो शस्त्र मित्र है। शस्त्र का मित्र साहस है। जो जरुरत पड़ने और संकट के समय पर काम आ जाए वह भी मित्र है। पर जो व्यक्ति स्वार्थी, नीच मनोवृत्तिवाला, कटु भाषी और धूर्त होता है उसका कोई मित्र नहीं होता, न वह ख़ुद किसी का मित्र होता है।


मुझे एकांत से बढ़कर योग्य साथी कभी नहीं मिला।

दोस्ती धीरे-धीरे पैदा करो, लेकिन जब कर लो तो उसमें दृढ़ अटल रहो।
सबका मीत हम अपना कीना
हम सभना के साजन
सबको मित्र बनाओ तथा सबके मित्र बनो




से नदी बह जाती है और लौटकर नहीं आती, उसी प्रकार रात और दिन मनुष्य की आयु लेकर चले जाते हैं, फिर नहीं आते।जो अपने समय का सबसे ज्यादा दुरूपयोग करते हैं, वे ही समय की कमी की सबसे ज्यादा शिकायत करते हैं। एक युग विशाल नगरों का निर्माण करता है, एक क्षण उसका ध्वंस कर देता है।
बीता हुआ समय और कहे हुए शब्द कदापि वापस नहीं आ सकते।
मैंने समय को नष्ट किया है। अब समय मुझको नष्ट कर रहा है।
समय का उचित उपयोग करना समय को बचाना है।समय पर थोड़ा सा प्रयत्न भी आगे की बहुत-से परेशानियों को बचाता है।
'समय फिरै रिपु होहिं पिरीते।'
समय फिरने पर मित्र भी शत्रु हो जाते हैं।
सोने का प्रत्येक धागा मूल्यवान होता है, इसी प्रकार समय का प्रत्येक क्षण भी मूल्यवान होता है।
Killing time murders opportunities.
What you will do today, do it NOW.
Whether it is the best of times or the worst of times, it’s the only time we’ve got.

0 comments: